News Desk मौज मस्ती के इरादे से सैलानी देश दुनिया के उन हिस्सों तक पहुंच जाते हैं जहां पर आम इंसान बमुश्किल ही पहुंच पाता है। इन जगहों पर सुकुन तो मिलता ही है साथ ही ऐसा कुछ दिख जाता है जिस पर यकीन करना मुश्किल होता है। जी हां, घुमक्कड़ प्रवृति के लोग जब बिल्कुल नई जगहों पर पहुंचते हैं तो कई बार उनके सामने ऐसी चीजें आ जाती हैं जिसकी दुनिया ने कल्पना भी नहीं की होती है।

यात्रियों का एक जत्था थाईलैंड घूमने के लिए गया था। कई किलोमीटर तक बिछे समुद्री जाल के बीच में उभरी हुई कुछ चट्टानें सैलानियों को अपनी ओर आकर्षित कर रही थी। लोगों ने चट्टान की तरफ जाने का आग्रह किया तो पानी के जहाज के पायलट ने भी जहाज का रूख चट्टान की तरफ कर दिया। लेकिन उसे भी अंदाजा नहीं था कि उसके सामने क्या आ जाएगा।

दरअसल सैलानियों को उस चट्टान पर विचित्र प्रकार के जानवर दिखाई दिए। जो कुछ-कुछ बंदरों की प्रजाति से मिलते जुलते लग रहे थे। इनके हाथ पैर भी विचित्र प्रकार के थे और हैरान करने वाली बात ये थी कि वह एक खास तरह का वाद्ययंत्र भी बजा रहे थे। सैलानियों को देखने के बाद इन जानवरों ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दिखाई बल्कि वह अपनी धुन में वाद्ययंत्र बजाते रहे। वहीं सैर पर निकले यात्री उन्हें देखने के बाद हैरान थे। 

इन विचित्र जानवरों के चश्मदीद रहे एक यात्री ने बताया कि हम रैली बे थाईलैंड के आस-पास कैराकिंग कर रहे थे। तभी हमारा ध्यान पानी के बीच उभरी चट्टान की गुफा की तरफ गई। जब हम करीब गए थे तो हम में से कुछ लोग डर कर चिल्लाने लगे। क्योंकि सामने दिख रहे जानवर कल्पना से भी परे थे। वह अपनी धुन में अपना वाद्ययंत्र बजा रहे थे। कुछ चट्टानों पर बैठे तो कुछ पानी पर तैर रहे थे। यात्री ने बताया कि उन्हें देखने के बाद हम डर गए थे लेकिन जानवरों ने किसी को कोई नुकसान नहीं पहुंचाया।

देखे वीडियो 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here