नई दिल्ली : अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने भारत के मिशन ‘ऑपरेशन शक्ति’ को बेहद भयानक बताते हुए कहा है कि इसकी वजह से अंतरिक्ष की कक्षा में करीब 400 मलबे के टुकड़े फैल गए हैं। नासा ने कहा कि इससे आने वाले दिनों में इंटरनैशनल स्पेस स्टेशन (ISS) में मौजूद अंतरिक्ष यात्रियों के लिए नया खतरा पैदा हो गया है।

नासा हेड जिम ब्रिडेनस्टाइन ने सोमवार को अमेरिका में अपने कर्मचारियों को संबोधित करते हुए कहा, ‘भारत ने पृथ्वी की निचली कक्षा में 300 किमी दूर मौजूद एक सैटलाइट को मार गिराया, जो कक्षा में ISS और ज्यादातर सैटलाइटों से नीचे था। हालांकि 24 टुकड़े ISS के ऊपर की तरफ जा रहे हैं।’

उन्होंने आगे कहा कि यह भयानक है, इस तरह का इवेंट करना जिससे ISS के ऊपर मलबे के टुकड़े पहुंच जाएं काफी भयानक है। यह अस्वीकार्य है और नासा को इसके हम पर पड़ने वाले असर को लेकर काफी सतर्क रहना होगा। ब्रिडेनस्टाइन ने कहा, ‘अभी हम बड़े टुकड़ों को ट्रैक कर रहे हैं। हम लोग 10 सेंटीमीटर (6 इंच) या इससे बड़े टुकड़ों की बात कर रहे हैं। ऐसे अबतक 60 टुकड़े मिले हैं।’

उन्होंने यह भी साफ कहा कि ISS अभी बिल्कुल सुरक्षित है। अगर हमें कोई मूवमेंट करना पड़ा तो हम करेंगे। हालांकि इसकी संभावना कम ही है। इसके साथ ही यह भी स्पष्ट है कि इस तरह की गतिविधियां मानव स्पेसफ्लाइट के लिए अनुकूल नहीं है। आपको बता दें कि भारत के A-Sat टेस्ट के खिलाफ सार्वजनिक तौर पर बोलने वाले ब्रिडेनस्टाइन ट्रंप प्रशासन के पहले टॉप अधिकारी हैं। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here